Albert Einstein Biography In Hindi | आइंस्टीन का जीवन परिचय

अल्बर्ट आइंस्टीन का जीवन परिचय (Albert Einstein Biography in Hindi), अल्बर्ट आइंस्टीन की बचपन की कहानी, अल्बर्ट आइंस्टीन के आविष्कार, अल्बर्ट आइंस्टीन का दिमाग कहां रखा गया है, अल्बर्ट आइंस्टीन शिक्षा, अल्बर्ट आइंस्टीन के रोचक तथ्य

आज के लेख में मैं आप सभी को विश्व के सबसे महान Physicists में से एक Albert Einstein के जीवन परिचय से जुड़ी हर महत्वपूर्ण जानकारी लेकर हाजिर हुआ हूं। आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि Albert Einstein ने ब्रह्माण्ड की हमारी समझ को पूरी तरह से चेंज कर दिया है। आज के समय में हम लोग Albert Einstein की बदौलत ही आज समय यात्रा के बारे में विचार कर पा रहे हैं।

इसके साथ ही जानकारी के मुताबिक, Albert Einstein को 20वी सदी का सबसे ज्ञानी और बुद्धिमान व्यक्ति के तौर पर जाना जाता है। यही वजह है कि उन्हें साल 1921 में Nobel Prize भी प्राप्त हुआ था। इसलिए आज के लेख में मैं आप सभी को Albert Einstein Biography in Hindi से जुड़ी हर महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाला हूं। इसलिए आप सभी से निवेदन है कि आप हमारे आज के इस बायोग्राफी के पोस्ट के अंत तक बने रहें।

अल्बर्ट आइंस्टीन का जीवन परिचय – Albert Einstein Biography in Hindi

जन्म 14 मार्च 1879 जर्मनी
पिता का नामहरमन आइंस्टीन
माता जी का नाम पॉलिन आइंस्टीन
मृत्यु 18 अप्रैल 1955
पुरुस्कार भौतिकी में नोबेल प्राइज (1921 में दिया गया था)
जीवन संगिनी मिलेवा मेरिक (1903 – 1919) एल्सा (1919 – 1936)
बच्चे हंस अल्बर्ट आइंस्टीन, एडवार्ड आइंस्टीन और Lieserl Maric

अल्बर्ट आइंस्टीन का जन्म और शुरुआती जीवन | Albert Einstein Personal Biodata in Hindi

Albert Einstein का जन्म जर्मनी में साल 1879 में 14 मार्च को हुआ था। दरअसल, मूल रूप से Albert Einstein का जन्म एक यहूदी परिवार में हुआ था। अल्बर्ट आइंस्टीन के पिता का नाम हरमन आइंस्टीन और माता जी का नाम पॉलिन आइंस्टीन था। दरअसल, अर्बल्ट आइंस्टीन के पिता हरमन आइंस्टीन एक इंजीनियर और सेल्समेन थे। यह बिजली के उपकरण सप्लाई किया करते थे।

साल 1980 में हरमन आइंस्टीन और पॉलिन आइंस्टीन ने उल्मा से 160 किलोमीटर दूर म्युनिक में रहने का निर्णय किया और वहां चले गए। वहां पर अच्छी तरह से सेटल होकर हरमन आइंस्टीन और अल्बर्ट के अंकल जैकोब आइंस्टीन ने एक नए कंपनी की स्थापना किया था। जो कि सीधा सीधा DC के लिए बिजली के उपकरण यानी मशीन निर्माण करती थी।

अल्बर्ट आइंस्टीन के जन्म के बाद की कहानी

Albert Einstein के जन्म होने के दो वर्ष के पश्चात ही अल्बर्ट की बहन का जन्म हुआ था। अल्बर्ट की बहन का नाम उनके माता-पिता माजा (Maza) रखा था। ऐसा कहा जाता है कि अल्बर्ट आइंस्टीन को अपनी बहन के आने की सबसे ज्यादा खुशी थी और वे अपनी खुशी को बयां भी नहीं कर पा रहे थे।

ऐसा कहा जाता है कि अल्बर्ट आइंस्टीन बाकी के सामान्य बच्चों से बिल्कुल अलग दिखते थे। ऐसा इसलिए क्योंकि अल्बर्ट का सर बाकी बच्चों के मुकाबले काफी बड़ा था। जानकारी के मुताबिक अल्बर्ट आइंस्टीन को बोलने में भी थोड़ा बहुत तकलीफ का सामना करना पड़ता था। लेकिन एक दिन की बात है जब सूप पीते पीते अचानक से अल्बर्ट के मुंह से निकला की सूप कितना गर्म है।

यह कुछ शब्द अल्बर्ट ने पहली बार अपने मुंह से निकाली थी। यह देख अल्बर्ट आइंस्टीन के माता पिता की खुशी देखने लायक थी। बचपन से ही अल्बर्ट आइंस्टीन को शांत रहना, कम बातचीत करना और अकेले घूमना काफी पसंद था। ऐसा कहा जाता है कि अल्बर्ट अपनी उम्र के बच्चों के साथ नहीं खेला करते थे। बचपन से ही अल्बर्ट खेलने कूदने के बजाए ब्रह्मांड और प्रक्रति के बारे में सोचते थे।

अल्बर्ट आइंस्टीन की शिक्षा से जुड़ी जानकारी | Albert Einstein Education Career

यदि हम अल्बर्ट आइंस्टीन की शिक्षा के बारे में बात करें तो इन्होंने अपनी शुरुआती शिक्षा जर्मनी के म्युनिच शहर से ही प्राप्त की है। यही पर इनका जन्म हुआ था। बचपन से ही अल्बर्ट पढ़ाई में काफी Week थे और यही वजह है कि अल्बर्ट के शिक्षक उन्हें मानसिक रूप से कमजोर कहना भी शुरू कर दिया था। ऐसा कहा जाता है कि 9 वर्ष की आयु में बोल भी नही पाते थे।

हालांकि, 6 वर्ष की आयु से ही वे सारंगी बजाना सीखे और जीवन भर वे सारंगी बजाना नही छोड़े। धीरे धीरे अल्बर्ट जब 16 वर्ष के हुए तो वे कठिन से कठिन गणित को काफी सरलता से हल कर दिया करते थे। हालांकि, अल्बर्ट को स्कूल जाना पसन्द नहीं था। तो चलिए अब बिना समय गंवाए हम अल्बर्ट के अविष्कार के बारे में जान लेते है।

अल्बर्ट आइंस्टीन के अविष्कार से जुड़ी जानकारी

देखा जाए तो अल्बर्ट आइंस्टीन ने कई चीजों का आविष्कार किया है। यही वजह है कि अल्बर्ट आइंस्टीन का नाम प्रसिद्ध वैज्ञानिकों में से एक है। तो चलिए बिना समय गवाएं हम अल्बर्ट आइंस्टीन के सभी अविस्कारों के बारे में थोड़ा बहुत जान लेते हैं। जो कि कुछ इस प्रकार है

  • प्रकाश की क्वांटम थ्योरी का अविष्कार किया।
  • E= MC Square का अविस्कार किया।
  • ब्रोवनियम मूमेंट का अविष्कार किया।
  • स्पेशन थ्योरी का ऑफ रिलेविटीविटी का अविष्कार किया है।
  • जनरल थ्योरी ऑफ रिलेविटीविटी का अविष्कार किया है।

Read More- Surabhi Gautam IAS Biography In Hindi | सुरभि का जीवन परिचय?

अल्बर्ट आइंस्टीन से जुड़ी कुछ रोचक बातें | Albert Einstein Facts in Hindi

क्या आप भी अल्बर्ट आइंस्टीन से जुड़े कुछ रोचक बातें जानना चाहते हैं, यदि हां तो आपके लिए हमारा आगे का लेख काफी महत्वपूर्ण साबित होने वाला है। क्योंकि आगे के लिए मैं आप सभी को अल्बर्ट आइंस्टीन से जुड़ी कुछ रोचक बातें बताने जा रहा हूं। जो कि कुछ इस प्रकार है

  • अल्बर्ट आइंस्टीन खुद को कभी भी नास्तिक नहीं किया करते थे। बल्कि अल्बर्ट आइंस्टीन अपने आप को संश्यवादी कहा करते थे।
  • इसके साथ ही आपको मैं यह भी बता दूं कि अल्बर्ट आइंस्टीन अपने दिमाग में ही हर प्रयोग का हल निकाल देते थे।
  • बचपन से ही अल्बर्ट आइंस्टीन पढ़ाई में और कुछ भी बोलने में थोड़े कमजोर थे।
  • ऐसा कहा जाता है कि जब अल्बर्ट आइंस्टीन की मृत्यु हुई तब उनके दिमाग को एक व्यक्ति ने चुरा लिया था।
  • फिर उसको 20 वर्ष तक एक जार में बंद कर रखा था।
  • अल्बर्ट आइंस्टीन को एक नॉवेल पुरस्कार भी मिला था। लेकिन उसका पैसा उनको मिल नहीं पाया।
  • अल्बर्ट आइंस्टीन को राष्ट्रपति के पोस्ट पर आने का भी मौका दिया गया।
  • इसके साथ ही ऐसा कहा जाता है कि अल्बर्ट यूनिवर्सिटी के एडमिशन परीक्षा में भी फेल हो चुके थे।
  • अल्बर्ट आइंस्टीन की आंखे अभी भी बंद डब्बे में सुरक्षित रखे गए है।

अल्बर्ट आइंस्टीन के सुविचार | Albert Einstein Quotes in Hindi

  • हमारे पास वक्त काफी कम है यदि हमें कुछ करना है तो उसकी शुरुआत आज से ही हो जानी चाहिए।
  • मूर्खता और बुद्धिमता में केवल एक ही अंतर होता है और वो यह है कि बुद्धिमता की एक सीमा होती है।
  • आपको खेल का रूल पता होना चाहिए और आप किसी भी प्लेयर्स से बेहतर खेलेंगे।

FAQ about Albert Einstein biography

Q1. अल्बर्ट आइंस्टीन कौन थे?

अल्बर्ट आइंस्टीन एक भौतिक वैज्ञानिक थे। जो कि काफी फेमस है आज भी अल्बर्ट आइंस्टीन के बारे में चर्चे होते हैं।

Q2. अल्बर्ट आइंस्टीन का जन्म कब हुआ था?

अल्बर्ट आइंस्टीन का जन्म 1879 को मार्च महीने में हुई थी।

Q3. अल्बर्ट आइंस्टीन की मृत्यु कब हुई थी?

अल्बर्ट आइंस्टीन की मृत्यु साल 1995 में हुई थी।

निष्कर्ष

आशा करता है कि आपको हमारा Albert Einstein Biography in Hindi का यह पोस्ट पसंद आया होगा। क्योंकि आज के इस लेख में मैंने आप सभी को अल्बर्ट आइंस्टीन की जीवन परिचय से जुड़ी हर महत्वपूर्ण जानकारी साझा कर दिया है। इसके साथ ही यदि आपको हमारे आज के इस अल्बर्ट आइंस्टीन के जीवन परिचय के पोस्ट को पढ़कर किसी भी तरह का कोई सवाल पूछना हो, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट कर कर सकते हैं। यदि आपको हमारा यह बायोग्राफी पोस्ट पसंद आए, तो शेयर करना ना भूले।

यह भी पढ़े

होम पेजयहाँ क्लिक करें
Join our Whatsapp groupयहाँ क्लिक करें
Share on:

you may also like this!