Kanch Kaise Banta Hai | काँच कैसे बनता है? जानिए हिंदी में

क्या आप भी Kanch Kaise Banta Hai इससे जुड़ी हर महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, यदि हां तो आपको हमारे आज के पोस्ट को पूरा पढ़ने की जरूरत होगी। क्योंकि आज के लेख में मैं आप सभी को कांच कैसे बनता है से जुड़ी हर महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाला हूं।

जैसा कि हम जानते हैं कि कांच एक ऐसी वस्तु है, जिसका उपयोग हमारे दैनिक जीवन में होते हैं। इसके साथ ही मुख्य तौर पर खिड़कियों में कांच का उपयोग किया जाता है तथा आपने देखा होगा कि बड़ी बाद इमारतों में भी कांच का उपयोग किया जाता है।

इसके अलावा हमारे वाहनों में शीशे के तौर पर भी ग्लास यानी कांच का उपयोग किया जाता है। देखा जाए तो जब तक हमारे बीच कांच का अविष्कार नहीं किया गया था, तब तक प्लास्टिक को कोई भी आकार दिया जा सकता था। लेकिन जब से हमारे बीच कांच का अविष्कार किया गया तब से कांच को भी किसी भी आकार में निर्माण किया जाने लगा। तो

kanch Kaise Banta hai
काँच कैसे बनता है

कांच के प्रकार क्या होते हैं | Types Of Grass in Hindi

यदि आप भी कांच कैसे बनता है के बारे में जानना चाहते हैं, तो उससे पहले आपको कांच के प्रकार क्या होते है इसके बारे में पता होना जरूरी होता है। तो यदि हम कांच के प्रकार के बारे में बात करें, तो कांच दो प्रकार के होते है। पहला नॉर्मल कांच और दूसरा प्रकार किसी विशेष उद्देश्य के लिए उपयोग किए जाने वाला कांच। आम तौर पर जो नॉर्मन कांच होते है, उसी का उपयोग करके किसी विशेष उद्देश्य के लिए उपयोग किए जाने वाला कांच को निर्माण किया जाता है।

दरअसल, नॉर्मल कांच घरों में आम तौरपर इस्तेमाल किया जाने वाला कांच होता है। जैसे कि हम लोग हर रोज कांच के बर्तन का प्रयोग करते हैं। वही किसी विशेष उद्देश्य वाला कांच वो कांच होता है, जो किसी विशेष मकसद से निर्माण किया जाता है। जिसमें बुलेट प्रूफ ग्लास इत्यादि शामिल है।

भारत में कांच का इतिहास क्या है | What is the history of Glass in India in Hindi

दरअसल, यदि हम भारत में कांच के इतिहास के बारे में बात करें, तो यह काफी पुराना है। जैसा कि आप कई बार रामायण, महाभारत, यजुर्वेद संहिता तथा योग वशिष्ठ में बहुत स्थान पर कांच शब्द का प्रयोग होते सुना होगा। इसके साथ ही आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि भारत में इसके अलावा कई ऐसे जगहों पर कुछ कांच के टुकड़े भी प्राप्त हुए है जो प्राचीन काल के प्रतीक होते है।

भारत में 16वी शताब्दी से कांच का विवरण देखा गया है। साल 1915 तक आते-आते भारत में कई कांच निर्माण करने के कारखाने चलने लगें। हालांकि, ये कारखाने बहुत जल्दी बंद कर दिए गए। लेकिन वही वर्तमान की बात की जाए, तो आज के समय में कांच निर्माण करने के कई कारखाने चलाए जा रहे हैं।

कांच बनने की प्रक्रिया क्या है (Kanch Kaise Banta Hai) | Process Of Making Glass in Hindi

क्या आप भी जानना चाहते हैं कि कांच कैसे बनता है, यदि हां तो सबसे पहले तो आप ये समझ लीजिए कि कांच को निर्माण करने के लिए आपको कच्चे मटेरियल के आधार पर रेत का उपयोग किया जाता है। दरअसल, हम जिस रेत की बात कर रहे हैं, वो कोई नॉर्मल रेत नहीं है। जी हां क्योंकि कांच निर्माण करने हेतु आपको ऐसी रेत की आवश्यकता होगी, जिसमें 99 फीसदी सिलिका मौजूद होता है।

तो चलिए अब हम बिना समय गंवाए ऐसी प्रक्रिया के बारे में जान लेते है, जिसको Follow कर आप कांच निर्माण कर सकते हैं। जो कि इस प्रकार है

1 . मिक्सिंग

यदि हम कांच निर्माण करने की प्रक्रिया के बारे में बात करें, तो इसकी शुरुआत ही मिक्सिंग के साथ होती है। अब इसके लिए आपको लगभग 15 फीसदी सोडा ऐश, 75 फीसदी रेत और 10 फीसदी लाइम की जरूरत होगी। जिसके पश्चात आपको इन सब को एक साथ मिक्सिंग करना होता है। ताकि ये तीनों अच्छी तरह से एक दूसरे में मिक्स हो जाए। फिर इस तरह इसका एक मिक्सचर को रेडी किया जाता है। जिसके पश्चात रेडी किए गए मिक्सचर को पुराने कांच के टुकड़ों में मिक्स करना होता है।

2 . मेल्टिंग

जब आपका मिक्सचर तैयार हो जाए, तब आपको इसके बाद इसको भट्टी में पिघलाने के लिए डालने की प्रक्रिया को शुरू करना पड़ता है। लेकिन ध्यान देने योग्य बात यह है कि आपको इसे पिघलाने के लिए भट्टी के तापमान को 1000 डिग्री सेल्सियस के आस पास रखने की आवश्यकता होगी।

3 . कोल्डिंग

दरअसल, जब भट्टी में आपका मिक्सचर बेहतर ढंग से पिघल जाता है, तब आपको यह तरल रूप में चेंज हो जाता है। जिसके पश्चात इसे बाहर निकाला जाता है। उसके बाद इसको किसी सांचे में रखकर के ठंडा होने के लिए छोड़ देने की आवश्यकता होगी।

4 . कांच

जब तैयार की गई मिक्सचर रखे गए सांचे में अच्छी तरह से ढल जाता है, तब आपको इसको बाहर निकालने की आवश्यकता पड़ती है। कुछ इस प्रकार जिस तरह सांचे का आकार बना होता है बिल्कुल इस प्रकार का कांच निर्माण होकर के रेडी हो जाता है। कांच को किस आकार में निर्माण करना है यह डिसाइड आप सभी को उस वक्त करना चाहिए जब कांच का मिक्सचर तरल रूप में चेंज हो जाता है। यही वजह है कि आप जिस आकार के कांच को तैयार करना चाहते हैं, उसी आकार के सांचे में इसके मिक्सचर को डालते है।

Read Also : Likee App किस देश का है? Likee App का मालिक कौन है

फैक्ट्री में कांच कैसे बनता है | How is Glass Made in Factories

क्या आपको भी अब फैक्ट्री में कांच कैसे निर्माण किया जाता है, इससे जुड़ी प्रक्रिया के बारे में जानना है, यदि हां तो उसके लिए आप सभी को नीचे के स्टेप्स को ध्यान पूर्वक पढ़ने की आवश्यकता होगी। क्योंकि नीचे में आप सभी को फैक्ट्री में कांच के डिजाइन और कांच निर्माण करने की प्रक्रिया के बारे में जानकारी साझा किया गया है। जो कि इस प्रकार है

सबसे पहले तो आपको बता दूं कि फैक्ट्री में कांच तैयार करने के लिए रोबोटिक सिस्टम का प्रयोग किया जाता है। क्योंकि आप रोबोटिक सिस्टम की मदद से कन्वेयर बेल्ट के पास कांच को लिटा कर पहुंचा सकते हैं।

जब आप रोबोटिक सिस्टम की मदद से कन्वेयर बेल्ट तक कांच को पहुंचा देते है, तब आपको इसकी सफाई ऑक्साइड और पानी के मिक्सचर से करनी पड़ती है। इसके साथ ही आपको इसमें गर्म पानी की सहायता से बारीकी से कांच की सफाई करनी पड़ती है।

जब आप कांच की सफाई अच्छी तरह से कर लेते हैं, तब आपको कांच के ऊपर कोटिंग के प्रोसेस को शुरू करना होता है। जिसके तहत आपको कांच पर तरल टीन चढ़ाने की आवश्यकता होगी। इस प्रकार आप कांच के पिछले हिस्से को तैयार कर लेते है और यही कारण है कि कांच पर काफी आसानी से सिल्वर चिपक जाता है।

अब आपको ड्रायर के टेंप्रेचर 31 डिग्री सेल्सियस करके इसमें कांच को रखने की जरूरत होगी। जिसके पश्चात आपको पीछे की तरफ पेंट लगाने की आवश्यकता होगी।पेंट सूखने के लिए भी यहां पर आपको मशीन का उपयोग करना होता है।

दरअसल, फैक्ट्री में कांच निर्माण करने की प्रक्रिया कुछ इस प्रकार थी। आपको बता दूं कि ऊपर दिए गए प्रक्रिया को पूरी करने के पश्चात आपको मांग के मुताबिक अलग अलग हिस्सों में काटा जाता है। बस इसी प्रोसेस को फॉलो करके आप भी कांच निर्माण करने की प्रक्रिया को पूरी कर सकते हैं।

कांच का इस्तेमाल क्या है | Glass Uses in Hindi

आपने हमारे अभी तक के लेख में कांच निर्माण करने की प्रक्रिया के बारे में तो जान ही चुके होंगे। लेकिन क्या आपको पता है कि कांच का इस्तेमाल क्या है, यदि नहीं तो आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि कांच का उपयोग करके विभिन्न वस्तु रेडी किया जा सकता है। जिसमें पानी पीने के लिए पानी बोतल, पानी पीने का गिलास और डाइनिंग टेबल इत्यादि जैसे वस्तु शामिल है।

इसके साथ ही साथ कांच का उपयोग मुख्य तौर पर संरचना को मजबूती देने के लिए भी की जाती है। देखा जाए तो कस्टमर के मांग के मुताबिक कांच को काफी मजबूत या काफी कम मजबूत रखा जाता है। जैसा कि आप सभी जानते ही होंगे कि शराब की बोतल में कांच की मोटाई काफी ज्यादा होती है।

इसके साथ ही आपकी जानकारी के लिए यह भी बता दूं कि जो कांच होते है, वो जंग प्रतिरोधक भी माने जाते हैं और ज्यादा द्रव्यों में यह घुलते भी नहीं है। यही कारण है कि ज्यादातर शराब या वाइन रखने हेतु मुख्य तौर पर अन्य तरह के रसायन को रखने हेतु आपको कांच के बोतलों का ही प्रयोग करना पड़ता है।

Read Also : PUBG Game का मालिक कौन है ये किस देश का गेम है?

कांच का अविष्कार कहां हुआ था | Where was Glass invented in Hindi

जैसा कि मैंने आपको अपने लेख में पहले ही यह जानकारी प्रदान कर दी है कि कांच बनाने के लिए रेत का प्रयोग किया जाता है। लेकिन इसके लिए जिस रेत का उपयोग किया जाता है वो कोई नॉर्मल रेत नही है। बल्कि इसके लिए ऐसे रेत की तलाश करनी पड़ती है जिसमें 99 फीसदी सिलिका की मात्रा मौजूद हो। फिर सबसे पहले मिक्सिंग की प्रक्रिया पूरी करने पड़ती है, उसके बाद मेल्टिंग और फिर कोल्डिग करके इसे भट्टी ने पिघलने के लिए छोड़ दिया जाता है।

फिर जिस आकार के हमे कांच चाहिए उसी आकार के सांचे में उसे डालकर तैयार कर दिया जाता है। वही यदि हम कांच के अविष्कार के बारे में बात करें, तो इसका अविष्कार मेसोपोटामिया या मिस्र में आज से ठीक 2.5 हजार वर्ष पहले किया गया था। दरअसल, स्टार्टिंग में कांच का अविष्कार मुख्य तौर पर सजने संवरने के लिए ही किया गया था। लेकिन कुछ सालों के बाद जैसे जैसे दिन बढ़ते गए वैसे वैसे कांच को अलग अलग तरह से निर्माण किया जाने लगा।

FAQ

Q1. कांच का निर्माण कैसे किया जाता है?

कांच का निर्माण रेत की मदद से किया जाता है और यह कोई नॉर्मन रेत से नहीं बल्कि ऐसे रेत के इस्तेमाल से कांच का निर्माण किया जाता है जिसमें 99 प्रतिशत शुद्ध सिलिका मौजूद हो।

Q2. कांच का इस्तेमाल क्या है?

कांच का इस्तेमाल कई विभिन्न प्रकार के अलग अलग वस्तुओ के निर्माण में किया जाता है। जैसे कि शीशी, पानी पीने का गिलास, पानी पीने का बोतल, चूरी इत्यादि जैसे वस्तु कांच से बनाए जाते हैं।

Q3. कांच का अविष्कार कहां हुआ था?

कांच का अविष्कार मुख्य तौर पर मेसोपोटामिया या मिस्र में हुआ था।

Q4. कांच कितने प्रकार के होते है?

देखा जाए तो वैसे तो कांच विभिन्न प्रकार के होते है लेकिन मुख्य तौर पर यह पांच प्रकार के होते है।
सोडा काँच या मुलायम काँच
सुदृढ़ (या टेम्पर्ड) काँँच
लैड काँँच या फ्लिन्ट काँच
कुचालक काँच
स्तरित सुरक्षा काँँच

निष्कर्ष

आशा करता हूं कि आपको हमारा Kanch Kaise Banta Hai का यह पोस्ट पसंद आया होगा। आज के लेख में मैंने आप सभी को कांच कैसे बनता है और इसका उपयोग क्या है इत्यादि से जुड़ी हर महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान किया है। इसके साथ ही अगर आपको हमारा आज का यह कांच के पोस्ट को पढ़कर कोई भी सवाल पूछना हो, तो आप कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Share on:
you may also like this!

Hi, I’m Sandeep Kumar. A Blogger, Digital Marketer And Social Influencer, i Have A More Than 2 years Of Experience. I Love Technology And Also Love To Share Knowledge On Social Platform

close

You cannot copy content of this page

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro

Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

Powered By
Best Wordpress Adblock Detecting Plugin | CHP Adblock