Category: Panchatantra All Stories In Hindi

नाग और चींटियाँ – panchatantra short stories in hindi – 2020

Table Of Content नाग और चींटियाँ – panchatantra short stories in hindi – 2020 panchatantra short stories in hindi – नाग और चींटियाँ panchatantra short stories in hindi : एक जंगल में एक नाग रहता था । वह रोज चिड़ियों के...

भेड़िया और सारस – Panchatantra story in hindi with moral

भेड़िया और सारस – Panchatantra story in hindi with moral एक लालची भेड़िया था । एक दिन वह खूब जल्दी – जल्दी भोजन कर था । भोजन करते – करते उसके गले में एक हड्डी अटक गई । भेडि हड्डी बाहर...

मूर्ख गधा – Panchatantra Best story in hindi

मूर्ख गधा – Panchatantra best story in hindi with moral एक कुम्हार था । उसने एक कुत्ता और एक गधा पाल रखा था । कुम्हार के मकान के चारों ओर पत्थर की चहारदीवारी थी । कुत्ता रोज चहारदीवारी के अंदर उसके...

स्वार्थी चमगादड़ – Panchatantra story in hindi with moral

स्वार्थी चमगादड़ – Panchatantra story in hindi with moral बहुत पुरानी बात है । एक बार पशुओं और पक्षियों में झगड़ा हो गया । चमगादड़ों ने इस लड़ाई में किसी का पक्ष नहीं लिया । उन्होंने सोचा , ‘ हम पक्षियों...

बेवकूफ शेर Panchatantra story in hindi with moral

बेवकूफ शेर Panchatantra story in hindi with moral बेवकूफ शेर Panchatantra story in hindi with moral : एक जंगल में एक शेर रहता था । एक दिन उसे बहुत भूख लगी । वह गुफा से बाहर आया और किसी जानवर की...

नकलची कौआ Panchatantra Story In Hindi With moral

नकलची कौआ Panchatantra Story In Hindi With moral एक पहाड़ की ऊंची चोटी पर एक गरुड़ रहता था । पहाड़ की तलहटी में एक बड़ा पेड़ था । पेड़ पर एक कौआ अपना घोंसला बना कर रहता था । नकलची कौआ...

 बाघ की बन आई – Panchatantra Story In Hindi With moral

बाघ की बन आई – Panchatantra Story In Hindi With moral एक जंगल में चार गायें रहती थीं । उनमें गाढ़ी मित्रता थी । वे चारों हमेशा साथ – साथ ही रहती थीं । एक साथ घूमने जातीं । साथ –...

कुत्ते की आदत छूटी – Panchatantra Story In Hindi With moral

कुत्ते की आदत छूटी – Panchatantra Story In Hindi With moral गक बार दो गायें चारा खाने के लिए गोशाला गई । वहाँ पहुंचने पर अपनी । नाँद में उन्हें एक कुत्ता बैठा हुआ दिखाई दिया । गायों को देख कर...

मूर्खता का फल – Panchatantra Story In Hindi With moral

मूर्खता का फल – Panchatantra Story In Hindi With moral एक बढ़ई था । एक बार वह लकड़ी के एक लंबे लट्ठ को आरे से चीर रहा था । उसे इस लट्टे के दो टुकड़े करने थे । सामने वाले पेड़...
Close Bitnami banner