अकबर बीरबल के मजेदार किस्से – Best Akbar Birbal Stories in hindi

87 / 100 SEO Score

 akbar birbal stories in hindi

दोस्तों अगर आप अकबर बीरबल की मजेदार कहानियां पढ़ना चाहते हैं तो आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं हम आपको यहां पर अकबर बीरबल की चार मजेदार कहानियों (akbar birbal stories in hindi) के बारे में बताएंगे अगर आप अकबर बीरबल की कहानियां पढ़ना चाहते हैं तो आपको पोस्ट को अंत तक पढ़ना है.

Akbar Birbal Stories in Hindi With Moral

1. अकबर बीरबल कैसे मिले – akbar birbal stories in hindi

अकबर बीरबल कैसे मिले - akbar birbal

राजा अखबार अक्षर फुर्सत के दिनों में शिकार पर निकल जाते थे एक दिन वह शिकार करते करते अपने राज्य के बहुत दूर निकल गए. थोड़ी देर में उन्हें आभास हुआ कि वह अपनी राजधानी आगरा का रास्ता भूल चुके हैं रास्ते की तलाश में वह एक ऐसी जगह पहुंच गए जहां से तीन रास्ते निकलते थे.

तीन रास्ते देख कर एक बार सोच में पड़ गए महाराज के दरबारी ने कहा “महाराज बहुत देर से रास्ता ढूंढ रहे हैं और अब जाकर रास्ता मिला भी तो ऐसा रास्ता जहां पर पर यह निर्णय लेना ही मुश्किल हो गया है कि कौन सा रास्ता आगरा को जाता है और कौन सा नहीं.

तभी उनको एक युवक दिखाई दिया महाराज ने युवक से पूछा कि युवक क्या तुम्हें मालूम है कि कौन सा रास्ता आगरा को जाता है तो युवक बोला “जनाब इनमें से कोई भी रास्ता आगरा को नहीं जाता राजा बोला कि “कैसी मूर्खों वाली बात करते हो हमें यह नहीं पता कि कौन सा रास्ता ग्राहक को जाता है पर हमें यह मालूम जरूर है कि इनमें से कोई एक रास्ता तो जरूर आगरा को जाता है.”

युवक बोला “जनाब मेरे कहने का मतलब यह है कि रास्ता आगरा नहीं जाता भी तो हम रास्ते से आगरा को जाते हैं” फिर राजा बोला “कि युवक तुम एक समझदार व्यक्ति हो तुम्हारा क्या नाम है” युवक बोला “कि मेरा नाम महेश दास है और आपका नाम क्या है.”

राजा का सैनिक बोला “युवक तुम्हें यह भी नहीं पता कि तुम इस समय हिंदुस्तान के जहांपना द लालू जी ने मोहम्मद अकबर से बातें कर रहे हो.” Akbar Birbal Stories in hindi

राजन राजा ने युवक को एक अंगूठी दी और बोला “कि इस अंगूठी को लेकर हमारे दरबार में पहुंचना इसे देखते ही हम आपको तुरंत पहचान जाएंगे कि तुम कौन हो और तुम्हें दरबार में उचित स्थान देंगे.”

इस प्रकार महाराजा अकबर ने बीरबल को अपने मुख्य सलाहकार के रूप में रख लिया इस तरह से अकबर और बीरबल मिले और उनमें दोस्ती हुई.

2. बिना छुए रेखा छोटी कैसे करें.? – akbar birbal stories in hindi

बिना छुए रेखा छोटी कैसे करें.? - akbar birbal

राजा अकबर अक्सर अपने दरबारियों की परीक्षा लिया करते थे एक दिन उन्होंने एक विचित्र प्रश्न पूछा जिसे सुनते ही सब परेशान और हैरान हो गए.

उन्होंने एक रेखा खींची और कहा यहां पर हर कोई ऐसा व्यक्ति है जो इस रेखा को बिना छुए छोटा करके दिखा सके. दरबार में बैठे बहुत सारे लोगों ने कहा कि यह सब नहीं हो सकता यह कोई भी नहीं कर सकता. एक युवक बोला “कि यह पहेली तो मेरी भी समझ से बाहर है मैं कभी भी ऐसा नहीं कर सकता.” Akbar Birbal Stories in hindi

उसके बाद राजा बोले कि मुझे बहुत अत्यंत दुख हुआ कि यहां पर कोई भी ऐसा व्यक्ति नहीं है जो मेरी पहेली को सुलझा सकें फिर उसके बाद मेरे पर बोला “कि महाराज आप उदास मत होइए मैं यह करके दिखाऊंगा.”

और बीरबल ने उसी रेखा के पास एक बड़ी रेखा खींच दी और कहा कि यह लो जहांपना आपकी खींची हुई रेखा बिना छुए छोटी हो गई. राजा बहुत खुश हुए और बोले शाबाश बीरबल वाकई आप हमारे एक अनमोल रतन हो. दरबार में सब उनके जय-जय करने लग गए इस प्रकार बीरबल ने रेखा को बिना छुए छोटी करके दिखाया.

3. कुआं बेचा है पानी नहीं – akbar birbal stories in hindi

birbal water well story

1 दिन शहंशाह अकबर के दरबार में एक किसान आया और फरियाद करने लगा दोहाई हो जहांपना दोहाई हो फिर महाराजा बोले क्या बात है क्या परेशानी है तुम्हें फिर किसान बोला “जहांपनाह मैं एक गरीब किसान हूं और मैंने एक कुआं खरीदा था किसान से ताकि मैं खेती-बाड़ी कर सकूं और उसको जोड़ सकूं.”

तुझे मैं पानी निकालने गया तो उसने मुझे बोला “कि तुम नहीं निकाल सकते पानी क्योंकि यह पानी तुम्हारा नहीं है यह सिर्फ  कुआं तुम्हारा है. “

शान की विचित्र बात सुनकर महाराजा अकबर भी सोच में पड़ गए और बोले शांत हो जाओ किसान तुम को इंसाफ मिलेगा बीरबल जाओ और देखो क्या समस्या है तो बीरबल उस किसान के साथ उसके साथ कुएं के पास गया.

बीरबल कुएं के पास पहुंचे और वहां खड़े जमीदार से बोले जमीदार तुम इसे पानी क्यों नहीं निकालने दे रहे क्या यह बात सच है कि इसने तुमसे कुआं खरीदा है. तो इंदौर बोला “कि यह बात तो सच है किसने मुझसे कुआं खरीदा है तो मैं भी कहा गलत हूं मैंने कुआं बेचा है पानी तो नहीं बेचा है. अपना पानी इसमें से क्यों निकालने दो बताओ.” Akbar Birbal Stories in hindi

तो बीरबल ने तुरंत कहा कि ठीक है तुम तुरंत अपना पानी इसमें से निकाल लो क्योंकि यह कुआं इसका है अगर तुम इसमें अपना पानी रखना चाहते हो तो तुम्हें रोज 10 सोने के सिक्के इस किसान को देने पड़ेंगे किराए के रूप में. तो क्या तुम्हें मंजूर है.

यह बात सुनकर जमींदार घबरा गया और बोला रोज 10 सिक्के सोने के मुझे नही देने. यह पानी तुम अपना पानी ले लो मुझे नहीं चाहिए.” और इस तरह से बीरबल ने गरीब किसान को अपनी चतुराई से इंसाफ दिलाया.

4. बीरबल की खिचड़ी – akbar birbal khichdi story

akbar birbal khichdi story in hindi

सर्दियों के दिनों में बादशाह अकबर और बीरबल नदी किनारे टहल रहे थे अकबर ने बीरबल से कहा की बीरबल आज तो बहुत ज्यादा सर्दी है बीरबल बोला “कि जी महाराज आज तो बहुत ज्यादा सर्दी है आज मौसम भी खराब है और नदी का पानी बर्फ सा हो गया होगा.”

महाराजा बोले कि बीरबल तुमने बिल्कुल सही कहा फिर बीरबल बोला “किसान तो इसी पानी का इस्तेमाल करता है और इसी से अपनी दिनचर्या का काम करता है” महाराजा भोले “कि क्या बात करते हो ऐसे ठंडे पानी में तो हाथ डालना भी बहुत मुश्किल है.”

निर्बल बोले कि महाराज गरीबी बहुत बड़ी मजबूरी है गरीब व्यक्ति के पास अगर कुछ ना हो तो वह कठिन से कठिन कार्य कर लेता है राजा बोला “बीरबल मैं नहीं मान सकता इस ठंडे पानी में तो कोई हाथ भी नहीं डाल सकता.”

 नदी किनारे खड़ा पास में एक व्यक्ति यह सब बातें सुन रहा था और वह महाराज के पास गया और बोला “महाराज समा कीजिए मैं एक गरीब आदमी हूं बीरबल जैसा कह रहे हैं वह बिल्कुल सही है गरीबी में हम सब कुछ भी कर सकते हैं और आप कह रहे हैं कि पानी में हाथ डालना अगर आप मुझे धन दे तो मैं पानी में पूरी रात खड़ा रह सकता हूं.”

राजा इस व्यक्ति की बात सुनकर बोले की धन की बात है तो मैं तुम्हें मालामाल कर दूंगा बस तुम्हें पानी में पूरी रात खड़ा रहना है और जो कहा है और उसको करके दिखाना है. Akbar Birbal Stories in hindi

शर्त के अनुसार गरीब व्यक्ति पूरी रात सिपाही की निगरानी में ठंडे पानी मैं खड़ा रहा. गरीब व्यक्ति महाराजा के दरबार में पहुंचा और बोला “जैसा आपने कहा था मैंने वैसा करके दिखा दिया तो मुझे धन दीजिए.” महाराजा बोले कि तुमने वाकई में बहुत साहसी काम किया है और मैं तुम्हें बहुत सारा धन दूंगा परंतु मेरे दिमाग में एक प्रश्न आ रहा है कि तुम पूरी रात पानी में कैसे खड़े रहे.

गरीब व्यक्ति बोला “की जहांपना गरीब इंसान क्या करेगा पूरी रात ठंड में खड़ा रहा और पास में ही आग की एक मिसाल जल रही थी मैं उसको ही देखता रहा.” उसके बाद महाराजा क्रोधित होते हुए बोले “तुम पूरी रात मिसाल देखते रहे इसका मतलब यह हुआ कि तुम विशाल की गर्मी के कारण पानी में खड़े रह सके तुमने हमारे साथ धोखा किया है तुम्हें कोई नाम नहीं मिलेगा जब तुम यहां से चले जाओ.”

गरीब व्यक्ति मायूस होकर वहां से चला गया महाराज की है बात बीरबल को बहुत अच्छी नहीं लगी परंतु वह कुछ नहीं कर सकता था क्योंकि जहांपना अपना आदेश दे चुके थे. Akbar Birbal Stories in hindi

एक दिन महाराज और बीरबल शिकार के लिए बाहर गए हुए थे बादशाह अकबर ने कहा बीरबल बहुत भूख लग रही है खानसामा को कहो कि खाने को तुरंत कुछ बनाएं. प्रबल बोला “कि महाराज अगर आप आज्ञा दे तो मैं अपने हाथ से आज आपके लिए नजीर खिचड़ी बनाता हू.’ महाराजा महाराजा बोले “की से तुम्हारी इच्छा परंतु जल्दी बनाना क्योंकि मुझे बहुत तेज भूख लग रही है.”

बीरबल ने खिचड़ी पकाने के लिए आग से कितनी ऊपर रख दी. फिर बाद जहांपना ने अपने सेन कक्ष से आवाज लगाई और बोले कि खिचड़ी बनी या नहीं. निर्बल भोले की बनने वाली है जहांपनाह. देर बाद फिर से अकबर ने पूछा खिचड़ी बनी या नहीं मेरी तो भूख के मारे जान निकली जा रही है.Akbar Birbal Stories in hindi

काफी देर तक जब खिचड़ी  नहीं परोसी गई तो अकबर बाहर आए और बोले बीरबल कैसे मूर्खता पूर्ण बात करते हो क्या तुम्हारी खिचड़ी कभी भी बन पाएगी क्योंकि वह आग से कितने ऊपर है तो वह खिचड़ी कैसे पकेगी.

बीरबल बोला “कि महाराजा खिचड़ी तो नहीं पक सकते जब एक गरीब इंसान ठंडे ठंडे पानी में दूर जल रही आग से गर्मी ले सकता है तो यहां खिचड़ी तो मात्र थोड़ी सी दूर है महाराज को अपनी गलती का एहसास हो गया और उन्होंने गरीब इंसान को अपने दरबार में बुलाया और बहुत सारा धन इनाम में दिया. Akbar Birbal Stories in hindi

बीरबल की खिचड़ी का मुहावरा आज भी बहुत मशहूर है यह मुहावरा जब बोला जाता है जब अपेक्षा से अधिक किसी काम में देरी हो जाए.

My Last Word 

दोस्तों हमने आपको इस पोस्ट में अकबर बीरबल के 4 मजेदार किस्से (akbar birbal stories in hindi) के बारे में बताया है कि उन्होंने अपना जीवन कैसे व्यतीत किया था अगर आपको हमारी यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें ताकि हम आपके लिए ऐसी मजेदार स्टोरी लेकर आते रहे.

Thank You 

Recommended : Akbar Birbal Stories in hindi

Close Bitnami banner